अब मुफ्त बच्चों को दूध और महिलाओं को सेनेटरी नैपकिन देगी सरकार

अब मुफ्त बच्चों को दूध और महिलाओं को सेनेटरी नैपकिन देगी सरकार

यंगवार्ता न्यूज़ - चंडीगढ़ 06-08-2020

हरियाणा में एक से छह साल के बच्चों के लिए मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना शुरू की गई है। लड़कियों और महिलाओं को सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने महिला एवं किशोरी सम्मान योजना की शुरुआत की। इन दोनों योजनाओं की शुरुआत करने के पीछे सरकार की मंशा कुपोषण को दूर करना तथा स्वच्छता को बढ़ावा देने की है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये इन दोनों योजनाओं की शुरुआत की। उन्होंने सभी उपायुक्तों से कहा कि वे मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना को फ्लैगशिप कार्यक्रमों में शामिल करें और संबंधित जिलों में महिलाओं और बच्चों में एनीमिया तथा कुपोषण की समस्या को दूर करने के लिए प्रयास करें।

मुख्यमंत्री ने दूध उपहार योजना के तहत तीन बच्चों और दो महिलाओं को स्किम्ड मिल्क पाउडर के पैकेट वितरित किए। इसके अलावा उन्होंने महिला एवं किशोरी सम्मान योजना के लाभार्थियों को मुफ्त सेनेटरी नैपकिन के पैकेट बांटे।

वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये जुड़े सभी जिलों में इन दोनों योजनाओं के तहत लाभाॢथयों को स्किम्ड मिल्क पाउडर और सेनेटरी नैपकिन के पैकेट बांटे गए। मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना के तहत 1 से 6 वर्ष तक के बच्चों तथा गर्भवती व दूध पिलाने वाली माताओं को फोर्टिफाइड सुगंधित स्किम्ड मिल्क पाउडर दिया जाएगा।

महिला एवं किशोरी सम्मान योजना के तहत बीपीएल परिवारों की 10 से 45 वर्ष तक की किशोरियों व महिलाओं को मुफ्त सेनेटरी नैपकिन मिलेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में नूंह जैसे कुछ जिले हैं, जहां महिलाओं और बच्चों में एनीमिया की समस्या अपेक्षाकृत अधिक है।

उन्होंने उपायुक्तों को निर्देश देते हुए कहा कि वे अपने जिलों में मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना का प्रभावी कार्यान्वयन सुनिश्चित करें। इस योजना के तहत वितरित किए जाने वाला फोर्टिफाइड सुगंधित स्किम्ड मिल्क पाउडर कुपोषण को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

योजना के अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्रों में 1 से 6 वर्ष तक के बच्चों तथा गर्भवती व दूध पिलाने वाली माताओं को सप्ताह में 6 दिन 200 मिलीलीटर प्रतिदिन दूध दिया जाएगा। यह दूध छह प्रकार के स्वाद में होगा।

मुख्यमंत्री के अनुसार महिला एवं किशोरी सम्मान योजना के तहत 22.50 लाख महिलाओं और किशोरियों को एक साल तक हर महीने मुफ्त सेनेटरी नैपकिन का एक पैकेट दिया जाएगा, जिसमें 6 नैपकिन होंगे। इसके अलावा, शिक्षा विभाग ने भी एक योजना तैयार की है जिसके तहत 6.50 लाख छात्राओं को हर महीने छह सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराए जाएंगे।