कोरोना पीक पर लोगों को अधिक सचते रहने की जरुरत : डा. देवेंद्र शर्मा 

कोरोना पीक पर लोगों को अधिक सचते रहने की जरुरत : डा. देवेंद्र शर्मा 
यंगवार्ता न्यूज़ - मंडी  14-10-2020

कोरोना अपने पीक की ओर है तथा एक महीने में 1400 मामले आए हैं। आगामी सर्दियों के मौसम और त्योहारी सीजन को देखते हुए अब अनलॉक में लोगों को अधिक सचते रहने की आवश्यकता है। ऐसे में अब स्वास्थ्य विभाग इंटेंसिव एंड फोक्सड कोविड-19 कैंपेन शुरू कर लोगों को जागरूक करेगा।

यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी मंडी डॉ. देवेंद्र शर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में कही। उन्होंने कहा जिला में जहां छह सितंबर तक 453 मामले कोरोना के थे, जो छह अक्टूबर तक 1800 पहुंच गए और अब तक 380 मामले एक्टिव हैं, जबकि 30 लोगों की मौत हो चुकी है। 

इसी बात को ध्यान में रखते हुए लोगों को जिंगल्स, स्लोगन और पोस्टर आदि के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी जागरूक करेंगे, ताकि लोग कम से कम घरों से निकलें और अगर निकलें तो अपना बचाव रखें। उन्होंने कहा कि आरंभ से ही मंडी प्रशासन के सहयोग से नेरचौक मेडिकल कॉलेज और अन्य स्वास्थ्य संस्थानों में कोविड केयर अस्पताल बनाए गए हैं।

उन्होंने कहा अभी मंडी जिला में हालात स्थिर हैं और अब देखना यह है कि इससे डाउन शुरू होता है या बढ़ता है। अभी तक जिला में 2145 मामले आए हैं, जिसमें से 1735 ठीक हो चुके हैं और 380 मामले सक्रिय हैं। उन्होंने कहा कि नेरचौक मेडिकल कॉलेज में वेंटीलेटर आदि की पूरी व्यवस्था है तथा किसी भी आपात स्थिति में बेहतर तरीके से निपटा जा सकता है।

इस मौके पर उनके साथ जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश कटोच, डॉ. पवनेश, एमएस डॉ. धर्म सिंह, डॉ. विशाल ठाकुर, एनआर ठाकुर सहित अन्‍य मौजूद रहे। सीएमओ डॉ. देवेंद्र शर्मा ने कहा कि अगर कोरोना के मामले बढ़ते हैं तो जिला प्रशासन के सहयोग से 5000 के करीब बिस्तरों की क्षमता मौजूद है।

सितंबर और अक्टूबर माह में बढ़े मामलों के बाद यह तैयारी की गई है। इसके लिए दो सेंटर सुंदरनगर में ही देखे गए हैं। जिला में अब तक आए कोरोना संक्रमण के मामलों में 31 डॉक्टरों सहित 62 पुलिस कर्मी संक्रमित हो चुके हैं। कुल 187 कोरोना योद्धा संक्रमित हुए हैं, इनमें 45 मामले सक्रिय हैं। 

जिला में 1371 लोग होम आइसोलेट किए गए हैं, जिसमें 1055 ठीक हो चुके हैं और 316 मामले सक्रिय हैं। इन मरीजों को दवाई की किट उपलब्ध करवाई जा रही है। अब 800 और किटें तैयार की जा रही हैं।