दुकानदारों के व्यापार को देखते हुए तैयार की जाए कुम्भ मेले की एसपी, कैबिनेट मंत्री से मिले व्यापारी 

दुकानदारों के व्यापार को देखते हुए तैयार की जाए कुम्भ मेले की एसपी, कैबिनेट मंत्री से मिले व्यापारी 

यंगवार्ता  न्यूज़ - हरिद्वार  22-02-2021

कुंभ मेला 2021 के पावन पर्व शाही स्नान के दौरान तीर्थ नगरी हरिद्वार में देश दुनिया से आने वाले तीर्थयात्रियों, श्रद्धालु पर राज्य सरकार द्वारा जटिल  प्रक्रिया को संशोधित व सरलीकरण किए जाने की मांग को लेकर आंदोलन के दूसरे दिन पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष संजय चोपड़ा की अध्यक्षता में एक प्रतिनिधि मंडल कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत से मिला। इस दौरान प्रतिनिधि मंडल ने कैबिनेट मंत्री को एक सूत्रीय मांग पत्र सौंपा।

संयुक्त मोर्चा के प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त करते हुए कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड सरकार द्वारा कुंभ मेला 2021 के आयोजन में सख्ताई करने का उद्देश्य यह है कि अन्य राज्यों से आने वाले तीर्थयात्रियों की वजह से कुंभ मेला यात्रा के दौरान कोरोना महामारी विकराल रूप ना लें।

सरकार की और से कुंभ मेले को लेकर यात्री प्रवेश पर सख्ताई बढ़ती जा रही है, लेकिन व्यापारियों व सामाजिक संगठनों, संयुक्त मोर्चा की और से एसओपी को लेकर जो मांग की जा रही है। उस पर सरकार की और से कई दौर की कैबिनेट की बैठकों में चर्चा की जा चुकी है। 

उन्होंने कहा कि संयुक्त मोर्चे की न्याय संगत मांगों पर आगामी कैबिनेट की बैठक में पुनः चर्चा की जाएगी। उन्होंने बताया कि हरिद्वार के व्यापारी , सामाजिक संगठनों होटल, धर्मशाला, ऑटो, रिक्शा यूनियन और टैक्सी यूनियन इत्यादि क्षेत्रों में अपना व्यापार संचालित करने वाले सभी व्यापारियों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए प्राथमिकता के आधार पर कुंभ मेला 2021 के आयोजन में तीर्थयात्री भी आएं और धर्मनगरी हरिद्वार का समस्त व्यापार संचालित हो। 

इसके लिए प्राथमिकता के आधार पर सरकार की और से निर्णय लिए जाएंगे। इस अवसर पर लघु व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा की व्यापारी प्रदेश के आर्थिक विकास की रीढ़ है और हरिद्वार का व्यापारी तो कोरोना में भी अपने दुख को भूल कर लोगों की सहायता करता रहा है पर अब व्यापारी की कमर टूट गई है। 2019 अक्टूबर से अब तक हरिद्वार की दुकानो के ताले नही खुले है। 

व्यापारी कुंभ मेला व सरकार की और आशा भरी नज़रों से देख रहा है, ऐसे मे एसओपी मे लचीलापन लाया जाना बहुत ज़रूरी है। कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत से एसओपी में सरलीकरण किये जाने की मांग करते संयुक्त मोर्चे के प्रवीण शर्मा, सुमित अरोड़ा, राजेंद्र पाल, मंजू सिंह तोमर, नितीश अग्रवाल, दीपक मेहरा, जयसिंह बिष्ट, विशाल मूर्तिभट्ट, आदित्य दारा, पुष्पेंद्र गुप्ता, आदेश मारवाड़ी आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।