पर्यावरण मंत्रालय ने ठुकराया एनएचएआई का प्रस्ताव, बंद ही रहेगा फोरलेन का काम

पर्यावरण मंत्रालय ने ठुकराया एनएचएआई का प्रस्ताव, बंद ही रहेगा फोरलेन का काम

यंगवार्ता न्यूज़ - बिलासपुर 19-09-2020

एनएचएआई का कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन निर्माण फिर से शुरू करने का प्रस्ताव पर्यावरण मंत्रालय नहीं माना है। इससे एनएचएआई को झटका लगा है। मंत्रालय ने साफ किया है कि फोरलेन में उपायुक्तों की ओर से गठित जांच कमेटियों की रिपोर्ट मिलने के बाद ही

इस पर आगे विचार किया सकता है। फोरलेन निर्माण में एनएचएआई ने बिना केंद्र की अनुमति के रोड अलाइनमेंट प्लान में बदलाव किया गया। अवैध डंपिंग का मामला भी पर्यावरण मंत्रालय पहुंचा है।

मंत्रालय ने राज्य सरकार से इस संबंध में कई बार पत्र भेजकर रिपोर्ट मांगी, लेकिन इस पर मंत्रालय को कोई रिपोर्ट नहीं मिली। इसके बाद मंत्रालय ने फोरलेन का काम बंद करने के निर्देश जारी किए।

एनएचएआई पर्यावरण मंत्रालय से काम शुरू करवाने की सिफारिश कर रही है, लेकिन मंत्रालय ने फिलहाल काम शुरू करने से मना कर दिया है। एनएचएआई ने मंत्रालय को की गई सिफारिश में बताया है कि जिस जमीन पर रोड अलाइनमेंट में बदलाव किया गया है।

वहां पर काम नहीं किया जाएगा। जहां पर रोड अलाइनमेंट सही है, वहां पर काम करने की अनुमति दी जाए। पर्यावरण मंत्रालय के तकनीशियन निदेशक योगेश गैरोला ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण मंडी कार्यालय की ओर से फोरलेन के काम को शुरू करने की सिफारिश की गई है। मंत्रालय ने अभी इसके लिए अनुमति नहीं दी है। उपायुक्तों की रिपोर्ट के बाद ही इस पर कोई फैसला आ सकता है।