पूर्व सीएम स्व वीरभद्र सिंह के जन्मदिन पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर उनके कार्यो को किया याद

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय वीरभद्र सिंह का आज जन्म दिवस है । प्रदेश भर में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम शिमला के कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में आयोजित

पूर्व सीएम स्व वीरभद्र सिंह के जन्मदिन पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर उनके कार्यो को किया याद

यंगवार्ता न्यूज़ - शिमला      23-06-2022

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय वीरभद्र सिंह का आज जन्म दिवस है । प्रदेश भर में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम शिमला के कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में आयोजित किया गया। 

जहा कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री सहिय अन्य नेताओं में वीरभद्र सिंह के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित किये ओर उनके द्वारा किए गए कार्यो को याद किया गया। 

इस दौरान स्वर्गीय वीरभद्र के साथ बिताए गए पलों को सभी नेताओं ने लोगों के साथ सांझा किया इसके अलावा कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कमला नेहरू हॉस्पिटल में मरीजो को फल फ्रूट भी वितरित किए।

कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कहा कि आज स्वर्गीय वीरभद्र सिंह का जन्मदिन है और उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए प्रदेश भर से यहां लोग आए उनका आभार व्यक्त करते हैं उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह ने पूरे प्रदेश में विकास करवाया है और आज  उनके जन्मदिन को विकास दिवस के रूप में मनाया जा रहा है।

मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश में  डॉ वाई एस परमार ओर वीरभद्र सिंह  ही दो ऐसे नेता रहे जो अपनी छाप छोड़ गए है। वाईएस परमार हिमाचल निर्माता के नाम से जाने जाते है वही वीरभद्र सिंह विकास पुरष के नाम से। वीरभद्र सिंह प्रदेश के 6 बार मुख्यमंत्री रहे और उन्होने पूरे प्रदेश का विकास करवाया।  

होलीलोज में रह कर उन्होंने कांगेस का परचम लहरा कर रखा । घर से पार्टी को घर से चलाया। वीरभद्र सिंह को विकास पुरुष के नाम से जाना जाता है उनके कदम जहां भी पड़े वहां पर जरूरत के हिसाब से विकास करवाया और हिमाचल के हक की लड़ाई को हर जगह लड़ा। 

हिमाचल की भावनात्मक एकता बनी रहे इसके लिए उन्होंने अनेकों कार्य किए। प्रदेश में जो उन्होंने विकास करवाया है उसे कभी नहीं बोला जा सकता है कांग्रेस सरकार के सत्ता में आते ही रेट के आधार पर उनकी प्रतिमा स्थापित करने के साथ ही जो शिक्षण संस्थान और भवन बनाए हैं। उनके नाम भी वीरभद्र सिंह के नाम पर रखे जाएंगे

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि स्वर्गीय वीरभद्र सिंह की पहली जयंती है। उनका जन्मदिन पूरे पूरे प्रदेश भर में बड़े धूमधाम से मनाया जाता था ओर होलीलोज में बधाई देने के लिए गाजे बाजे के साथ लोग पहुचते थे लेकिन अब वह हमारे बीच में नहीं है। लेकिन उनके जीवन को सेलिब्रेट करने की आवश्यकता है। 

जिस तरह से उन्होंने पूरे प्रदेश का विकास कराया लोगों के लिए अपना जीवन न्योछावर किया। वीरभद्र सिंह ने पूरे प्रदेश को एक माला में पिरोने का काम किया। उनके द्वारा किए गए विकास को पूरा प्रदेश हमेशा याद रखेगा।