वोटर लिस्ट में नाम नहीं तो भूल जाए चुनाव लड़ना, आयोग ने पंचायत इलेक्शन के लिए बनाये नए नियम

वोटर लिस्ट में नाम नहीं तो भूल जाए चुनाव लड़ना, आयोग ने पंचायत इलेक्शन के लिए बनाये नए नियम

यंगवार्ता न्यूज़ - शिमला 23-12-2020

वोटर लिस्ट में आपका नाम नहीं मगर आपके पास वोटर आई कॉर्ड है तो आप चुनाव नहीं लड़ सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि आपका नाम वोटर लिस्ट में होना चाहिए। वोटर लिस्ट में नाम अपडेट करने का वीरवार को आखिरी दिन है , जिसमें आप दावा पेश कर सकते हैं। 

राज्य चुनाव आयोग ने साफ हिदायत दी है कि बिना वोटर लिस्ट में नाम के किसी को चुनाव लड़ने का अधिकार नहीं होगा इसलिए दावा करने का जो मौका दिया गया है उसका लोग इस्तेमाल कर लें। इसके बाद कोई दावा नहीं हो सकता। चुनाव आयोग ने चुनाव लड़ने वाले व्यक्ति का संबंधित क्षेत्र की वोटर लिस्ट में नाम होना अनिवार्य किया है।

आयोग ने स्पष्ट किया है कि अगर व्यक्ति के पास वोटर आई कार्ड है लेकिन वोटर लिस्ट में नाम नहीं है तो वह चुनाव नहीं लड़ सकता। आयोग के मुताबिक वोटर आई कार्ड किसी भी व्यक्ति की निर्वाचक होने की गारंटी नहीं है। वोटर आई कार्ड व्यक्ति की पहचान सुनिश्चित करवाता है।

मताधिकार या चुनाव लड़ने का अधिकार व्यक्ति को मतदाता सूची में दर्ज नाम ही प्रदान करता है। इसलिए चुनाव लड़ने वाले व्यक्ति के पास वोटर आईकार्ड का होना जरुरी नहीं है, व्यक्ति का नाम वोटर लिस्ट में होना बेहद जरुरी है। अगर ऐसा नहीं है तो व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ सकता। 

19 दिसंबर तक वोटर लिस्ट को फाइनल करने का समय दिया गया था। जिसके बाद 24 दिसंबर तक समय बढ़ाया गया जिनको विकल्प दिया गया है। इसका उपयोग नहीं करने वाले चुनाव से ही बाहर हो जाएंगे। 

वीरवार  के बाद चुनाव आयोग वोटर लिस्ट में किसी भी नए व्यक्ति का नाम दर्ज नहीं करेगा। बता दें कि पहली दिसंबर तक 18 साल के होने वाले सभी लोगों को वोटर लिस्ट में शामिल करने का प्रावधान किया है। शाम पांच बजे तक यह काम चलेगा।

इस बीच पांच बजे तक जिस भी व्यक्ति ने जिला निर्वाचन अधिकारी को वोटर लिस्ट में नाम दर्ज करवाने के लिए आवेदन किया है उन लोगों के ही नाम वोटर लिस्ट में शामिल किए जाएंगे और वही व्यक्ति पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में भाग ले सकेंगे और चुनाव लड़ सकेंगे। प्रदेश में जनवरी में 30 हजार 656 पदों के लिए चुनाव होने हैं।

इन पदों पर चुनाव लड़ने के लिए लोग पूरी तैयारियों में जुट गए हैं। 31 दिसंबर में चुनावों के लिए नामांकन की प्रक्रिया को शुरू किया जाना है जो दो जनवरी तक जारी रहेगी। इस बीच लोग चुनाव आयोग से चुनाव लड़ने संबंधी विभिन्न जानकारियाँ हासिल कर रहे हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग  निर्वाचन अधिकारी संजीव महाजन  बताया कि चुनाव केवल वही व्यक्ति खड़ा हो सकता है जिनका नाम मतदाता सूची में शामिल है। अगर किसी व्यक्ति का नाम वोटर लिस्ट में नहीं है और उसके पास आई कार्ड है तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ सकता है।