पत्नी के लिए सुक्खू देहरा में खेल रहे चुनावी स्टंट , आज याद आ रहा ससुराल : होशियार सिंह

देहरा से भाजपा प्रत्याशी होशियार सिंह ने मुख्यमंत्री सुक्खू पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सुक्खू ने 15 महीनों में देहरा में विकास किया होता तो आज न उपचुनाव होता और न ही सुक्खू को अपनी पत्नी की जीत की चिंता करनी पड़ती। उन्होंने कहा चुनाव विश्वास ओर काम के द्वारा जीते जाते हैं, लोगों को डरा धमकाकर और जोर अजमाईश से नही

Jul 3, 2024 - 17:47
Jul 3, 2024 - 18:15
 0  15
पत्नी के लिए सुक्खू देहरा में खेल रहे चुनावी स्टंट , आज याद आ रहा ससुराल : होशियार सिंह


यंगवार्ता न्यूज़ - धर्मशाला  03-07-2024


देहरा से भाजपा प्रत्याशी होशियार सिंह ने मुख्यमंत्री सुक्खू पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सुक्खू ने 15 महीनों में देहरा में विकास किया होता तो आज न उपचुनाव होता और न ही सुक्खू को अपनी पत्नी की जीत की चिंता करनी पड़ती। उन्होंने कहा चुनाव विश्वास ओर काम के द्वारा जीते जाते हैं, लोगों को डरा धमकाकर और जोर अजमाईश से नही। उन्होंने कहा देहरा की जनता पहले भी उनके साथ थी तथा अब भी मेरे साथ है। जनता जानती है देहरा में उपचुनाव की स्थिति क्यों पैदा हुई। 

जो विकास के दावे मुख्यमंत्री सुक्खू आज देहरा की जनता से कर रहे हैं, अगर यही दावे उन्होंने उनकी मांगों के समय किए होते तो आज उप चुनावों के हालात पैदा नही होते। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री सुक्खू की पत्नी को आज देहरा में अपना मायका याद आ रहा है। 15 महीने पहले उन्हें अपने मायके की याद क्यों नहीं आई? इससे पहले क्यों उन्होंने अपने पति सुक्खू से देहरा में विकास की बात नहीं की ? क्या आज चुनाव लड़ने के बहाने यह राजनीतिक स्टंट खेला जा रहा है। होशियार सिंह ने कहा कि सुक्खू की छल की राजनीति ज्यादा दिनों तक चलने वाली नहीं है। 
देहरा की जनता भोली-भाली जरूर है , परंतु नासमझ नहीं जो वे सुक्खू सरकार के बहकावे में आ जाएगी। उन्होंने कहा कि सुक्खू को अपनी सरकार के गिरने का इतना डर है कि वे दिन-रात दिन अपने विधायकों की गिनती करते आ रहे हैं। सुक्खू को डर है कि उप चुनावों के बाद कई और विधायक उनसे कन्नी काटने काट सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज देहरा में लड़ाई चुनावी नही है, बल्कि देहरा के मान-सम्मान और यहां के विकास को लेकर है। प्रत्याशी होशियार सिंह ने कहा कि राजनीतिक महत्कांक्षाओं को पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी आजकल देहरा में जमीन तलाश कर रहे हैं। 
देहरा की चिंता ऐसे व्यक्तियों को करने की जरूरत नहीं जिन्हें प्रदेश भर में तालाबंदी और संस्थानों को बंद करने वाली सरकार के रूप में जाना जाता हैं। उन्होंने कहा कि कमलेश कहती हैं उनका जन्म और व्यवसाय हिमाचल से बाहर हैं तो उन्हें यह भी जानकारी देना चाहते हैं कि उनका जन्म स्थान भी साथ लगते विधानसभा क्षेत्र जसवां परागपुर में हैं न कि देहरा में है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow