प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में फ्री हाेंगे टीबी राेगियाें के एमआरआई और सीटी स्कैन

प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में फ्री हाेंगे टीबी राेगियाें के एमआरआई और सीटी स्कैन

यंगवार्ता न्यूज़ - शिमला    12-09-2021

क्षय राेग यानि टीबी के मरीजाें का अब सरकारी अस्पतालाें में एमआरआई और सीटी स्कैन करवाने के लिए पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है।

प्रदेश सरकार ने क्षय राेग निर्वाण याेजना के तहत टीबी के राेगियाें के लिए एमआरआई और सीटी स्कैन टेस्ट फ्री कर दिया है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने सभी मेडिकल कालेजाें और अस्पतालाें के लिए अधिसूचना जारी कर दी है।

हालांकि एमआरआई की सुविधा आईजीएमसी, टांडा जैसे बड़े अस्पतालाें में ही मिल रही है। इससे अब टीबी के राेगियाें काे काफी राहत मिलेगी। 

आमताैर पर जाे टीबी का राेगी हाेता है उसे बार-बार एक्सरे करवाए जाते हैं। इससे यह पता चलता है कि टीबी फेफडाें में कितना फैल रहा है। वहीं यदि एक्सरे में क्लीयर पिक्चर नहीं आती है ताे डाॅक्टर सीटी स्कैन व एमआरआई की सलाह भी देते हैं।

अभी तक उन्हें एमआरआई करवाने में करीब 2500 रुपए खर्च करने पड़ते थे, इसी तरह सीटी स्कैन में भी 1500 रुपए तक खर्च हाे जाते थे। हालांकि टीबी के मरीज काे पहले से अन्य टेस्ट और दवाएं फ्री दी जाती है। 

मगर अब एमआरआई और सीटी स्कैन फ्री हाेने से उनका इलाज में काेई खर्च नहीं हाेगी। जिला शिमला में टीबी मरीजाें की संख्या करीब 1700 है। काेराेना के बाद टीबी मरीजाें की संख्या में इजाफा हुआ है क्याेंकि काेराेना फेफड़ाें पर असर कर रहा है।

आईजीएमसी के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डाॅ. जनकराज का कहना है कि टीबी के मरीजाें के लिए सीटी स्कैन और एमआरआई की सुविधा निशुल्क कर दी है।

आईजीएमसी में अब टीबी के मरीजाें के यह दाेनाें टेस्ट फ्री हाेंगे। इसके लिए संबंधित विभाग काे आदेश जारी कर दिए गए हैं।