पर्यावरण संरक्षण की दिशा में पर्यावरण चेतना साहो के प्रयास सराहनीय : मुकेश रेपसवाल

पर्यावरण चेतना एवं ग्रामीण विकास प्रशिक्षण केंद्र साहो पर्यावरण संबंधी जागरूकता के साथ-साथ कृषि तथा बागवानी से संबंधित शिक्षण व प्रशिक्षण की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य कर रही है इसलिए इससे संबंधित कृषि, बागवानी पशुपालन, वन तथा ग्रामीण विकास विभाग को इस संस्था के साथ बेहतर तालमेल स्थापित कर कार्य करने की आवश्यकता है ताकि भविष्य में पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों व बागवानों  का आर्थिक सुदृढ़ीकरण किया जा सके। यह बात उपायुक्त चंबा व पर्यावरण चेतना एवं ग्रामीण विकास प्रशिक्षण केंद्र साहो के मुख्य संरक्षक मुकेश रेपसवाल ने जिला मुख्यालय चंबा में संस्था से संबंधित आयोजित बैठक में संबंधित विभागीय अधिकारियों को दिए

Jun 25, 2024 - 18:52
 0  14
पर्यावरण संरक्षण की दिशा में पर्यावरण चेतना साहो के प्रयास सराहनीय : मुकेश रेपसवाल
यंगवार्ता न्यूज़ - चंबा  25-06-2024
पर्यावरण चेतना एवं ग्रामीण विकास प्रशिक्षण केंद्र साहो पर्यावरण संबंधी जागरूकता के साथ-साथ कृषि तथा बागवानी से संबंधित शिक्षण व प्रशिक्षण की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य कर रही है इसलिए इससे संबंधित कृषि, बागवानी पशुपालन, वन तथा ग्रामीण विकास विभाग को इस संस्था के साथ बेहतर तालमेल स्थापित कर कार्य करने की आवश्यकता है ताकि भविष्य में पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों व बागवानों  का आर्थिक सुदृढ़ीकरण किया जा सके। यह बात उपायुक्त चंबा व पर्यावरण चेतना एवं ग्रामीण विकास प्रशिक्षण केंद्र साहो के मुख्य संरक्षक मुकेश रेपसवाल ने जिला मुख्यालय चंबा में संस्था से संबंधित आयोजित बैठक में संबंधित विभागीय अधिकारियों को दिए। मुकेश रेपसवाल ने कहा कि यह संस्था गत दो दशकों से निरंतर इस दिशा में बेहतर प्रयास कर रही है लेकिन संस्था द्वारा इस दिशा में किए जा रहे प्रयासों में बेहतर परिणाम लाने के लिए विभागीय अधिकारियों को भी संस्था के साथ बेहतर  तालमेल के साथ कार्य करने की आवश्यकता है। 
इससे पूर्व संस्था के वर्तमान अध्यक्ष कुलभूषण अभिमन्यु तथा संस्थापक सदस्य रतन चंद के अलावा सदस्य उमाकांत सहित अन्य सदस्यों ने भी संस्था द्वारा पर्यावरण संरक्षण के अलावा कृषि एवं बागवानी की दिशा में किए जा रहे प्रयासों बारे महत्वपूर्ण जानकारी दी तथा भविष्य में इस दिशा में बेहतरीन परिणाम लाने वाले अपने-अपने बहुमूल्य सुझाव दिए। बैठक में संस्था के  संस्थापक सदस्यों व पदाधिकारीयों ने मांग की कि संस्था के क्रमागत विकास व उपयोगिता के दृष्टिगत इसे एक शिक्षण व प्रशिक्षण केंद्र परिसर के रूप में कायम रखा जाए ताकि भविष्य में इस परिसर का उपयोग करते हुए इसे पर्यावरण संरक्षण तथा कृषि व बागवानी से संबंधित उद्देश्यों की पूर्ति की जा सके। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की की परिसर को प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण व अन्य कार्यक्रमों के लिए भी उपयोग उपयोग में लाया जाए। 
उपायुक्त मुकेश रेपसवाल ने पर्यावरण चेतना एवं ग्रामीण विकास प्रशिक्षण केंद्र साहो के पदाधिकारीयों व सदस्यों को आश्वासन दिया  कि जिला प्रशासन की ओर से संस्था द्वारा पर्यावरण संरक्षण व कृषि बागवानी की दिशा में किया जा रहे प्रयासों में हर संभव सहयोग प्रदान किया जाएगा। उन्होंने विभिन्न विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे आगामी सोमवार बैठक में इस विषय में अपनी विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करें। इस अवसर पर उपायुक्त मुकेश रेपसवाल के अलावा अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अमित मेहरा, एसडीम राहुल शर्मा, एसी टू डीसी पृथ्वी पाल सिंह, परियोजना अधिकारी डीआरडीए डॉ जयवंती ठाकुर सहित कृषि, बागवानी, वन तथा ग्रामीण विकास विभाग से संबंधित अधिकारी व बड़ी संख्या में संस्था के पदाधिकारी व सदस्य गण मौजूद थे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow