विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार के कार्यक्रम में क्यों धरने पर बैठ गए पूर्व विधायक जानिए वजह....... 

विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार के कार्यक्रम में क्यों धरने पर बैठ गए पूर्व विधायक जानिए वजह....... 

यंगवार्ता न्यूज़ - काँगड़ा   31-08-2021

विधानसभा क्षेत्र सुलह की रिड़ा पंचायत बड़ा राजनीतिक ड्रामा हो गया। स्‍थानीय विधायक एवं विधानसभा अध्‍यक्ष विपिन सिंह परमार ने आज यहां एक भूमि पूजन करना था।

लेकिन इससे पहले पूर्व विधायक जगजीवन पाल मौके पर पहुंचकर धरने पर बैठ गए। पुलिस व प्रशासन के उन्‍हें उठाने व मनाने में हाथ पांव फूल गए। लेकिन वह धरने से उठने के लिए तैयार नहीं थे। 

भवारना विकास खंड की रड़ा पंचायत भवन के शिलान्यास से पहले विवाद शुरू हो गया। विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने भवन का शिलान्यास करना था,

लेकिन कुछ लोग जगह को लेकर विवाद कर रहे हैं, वहीं पंचायत प्रधान, उपप्रधान व तीन वार्ड पंच आरोप लगा रहे हैं कि उन्हें शिलान्यास कार्यक्रम की कोई सूचना ही नहीं है। 

पूर्व सीपीएस जगजीवन पाल भी मौके पर प्रधान व उप्रधान तथा तीन वार्ड सदस्यों के समर्थन में आकर धरने पर बैठ गए। दोनों तरफ से नारेबाजी शुरू हो गई।

भवारना विकास खंड की रड़ा पंचायत भवन निर्माण के लिए आज भूमि पूजन होना था, लेकिन पंचायत के तीन वार्ड पंच व पंचायत प्रधान व उप प्रधान ने इस कार्यक्रम की कोई जानकारी न होने की बात कही। 

वहीं इस मौके पर साथ देने के लिए पूर्व विधायक जगजीवन पाल भी रड़ा पंचायत में पहुंचे और इन पांच जनप्रतिनिधियों के पक्ष में धरने पर बैठक गए।

बता दें कि इस पंचायत भवन निर्माण के लिए भूमि पूजन विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने करना था। लेकिन शिलान्यास से पहले ही विवाद हो जाने के कारण वह शिलान्यास करने के लिए नहीं पहुंचे। 

हालांकि यह भी बड़ी बिडंबना कि जिस पंचायत में शिलान्यास हो रहा है उसी पंचायत के प्रधान व उप प्रधान सहित तीन जनप्रतिनिधियों को इसकी सूचना तक नहीं हैं। बता दें कि इस पंचायत के कुल पांच वार्ड हैं और साढ़े नौ सौ की आबादी है। 

लेकिन मजे की बात यह है कि पांच वार्डों के इस पंचायत में सिर्फ दो पंच ही शिलान्यास करवाने की तैयारी कर चुके हैं और प्रधान, उपप्रधान व तीन अन्य वार्ड पंचों को इसकी सूचना तक नहीं है।

इस दौरान दोनों ही तरफ से नारेबाजी शुरू हो गई। कुछ लोग इस जगह शिलान्यास चाहते हैं तो कुछ लोग अन्य जगह पर इस भवन के बनाने की मांग कर रहे हैं।

दोनों तरफ से काफी देर तक गहमा गहमी जारी रही। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। लेकिन पूर्व निर्धारित कार्यक्रम मुताबिक विधानसभा के अध्यक्ष विपिन परमार शिलान्यास को नहीं पहुंचे।