हमीरपुर की ग्राम पंचायत लंबलू तथा चमनेड के लोग डायरिया की चपेट में,स्वास्थ्य विभाग अलर्ट 

हमीरपुर की ग्राम पंचायत लंबलू तथा चमनेड के तहत आने वाले गावों के लोग डायरिया की चपेट में आ गए हैं। लोग उल्टी, दस्त, बुखार से पीडि़त हो गए हैं। दोनों ही पंचायतों से डायरिया के मरीज सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने फील्ड में जाकर निरीक्षण किया

Jun 3, 2024 - 09:50
 0  53
हमीरपुर की ग्राम पंचायत लंबलू तथा चमनेड के लोग डायरिया की चपेट में,स्वास्थ्य विभाग अलर्ट 

यंगवार्ता न्यूज़ - हमीरपुर     03-06-2024

हमीरपुर की ग्राम पंचायत लंबलू तथा चमनेड के तहत आने वाले गावों के लोग डायरिया की चपेट में आ गए हैं। लोग उल्टी, दस्त, बुखार से पीडि़त हो गए हैं। दोनों ही पंचायतों से डायरिया के मरीज सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने फील्ड में जाकर निरीक्षण किया। रविवार को निरीक्षण के दौरान दोनों पंचायतों में 98 डायरिया से पीडि़त मरीज मिले हैं। 

विभाग ने आठ टीमों का गठन कर फील्ड में उतारा है, ताकि घर-घर जाकर डायरिया से पीडि़तों का पता लगाया जा सके। वहीं जिला स्वास्थ्य विभाग सोमवार को क्षेत्र में आईपीएच के जल भंडारण टैंकों से पानी के सैंपल भरेगा तथा जांच के लिए लैब भेजेगा। साथ ही लोगों के घरों में प्रयोग में लाए जाने वाली पानी के भी सैंपल भरे जाएंगे। 

लोग इन दिनों नलों के पानी का इस्तेमाल करने के साथ ही हैंडपंप के पानी का भी प्रयोग कर रहे हैं। कई लोग प्राकृतिक जल स्रोतों का सहारा लेते हैं। लोग डायरिया की चपेट में कैसे आए, उन कारणों का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। रविवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आरके अग्निहोत्री ने स्वयं फील्ड में उतरकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच की। 

वास्तविकता का पता लगाने के उतरे अधिकारियों के सामने चौंकाने वाला आंकड़ा सामने आया। दोनों पंचायतों में अब तक 98 डायरिया के मरीज मिल चुके हैं। सीएमओ डा. आरके अग्निहोत्री ने बताया कि लंबलू गांव में डायरिया के 42 मरीज, खनेउ गांव में 26 मरीज तथा चमनेड गांव में डायरिया के लगभग 30 मरीज मिले हैं। 

उन्होंने कहा कि साफ -सफाई का ध्यान रखें, पीने का पानी उबालकर या फिल्टर कर पिएं। गर्मी में बाहर न निकलें, उबले हुए पानी का इस्तेमाल करें, स्वच्छता बनाए रखें, खाना खाने से पहले और शौच के बाद हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोएं। उन्होंने कहा कि खाद्य सामग्री की स्वच्छता, ताजे और साफ-सुथरे भोजन का ही सेवन करें। 

बाहर का खाना खाने से परहेज करें। डायरिया के लक्षणों पर ध्यान दें, जैसे कि बार-बार पतले दस्त, उल्टी, बुखार आदि। ऐसे लक्षण होने पर तुरंत डाक्टर से संपर्क करें। ओआरएस का घोल पिएं और शरीर में पानी की कमी न होने दें। यदि आप या आपके आस-पास कोई व्यक्ति डायरिया से पीडि़त है, तो जल्द नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें। स्वास्थ्य विभाग की टीम से मिलकर उचित सलाह और दवाइयां लें।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow