पीएम मोदी की ताजपोशी से पहले कड़ी सुरक्षा : इलाके में धारा 144 लागू, राजधानी हाई अलर्ट पर  

नरेंद्र मोदी रविवार को तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। यह शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति भवन में होगा। दिल्ली पुलिस इसकी तैयारियों में जुटी है। दोपहर दो बजे के बाद राष्ट्रपति भवन और उसके आसपास कंट्रोल एरिया बनाया जाएगा......

Jun 9, 2024 - 13:12
 0  16
पीएम मोदी की ताजपोशी से पहले कड़ी सुरक्षा : इलाके में धारा 144 लागू, राजधानी हाई अलर्ट पर  

न्यूज़ एजेंसी -  नई दिल्ली    09-06-2024

नरेंद्र मोदी रविवार को तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। यह शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति भवन में होगा। दिल्ली पुलिस इसकी तैयारियों में जुटी है। दोपहर दो बजे के बाद राष्ट्रपति भवन और उसके आसपास कंट्रोल एरिया बनाया जाएगा। पुलिस अधिकारियों की मानें तो इस दौरान कई लेयर की सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी। 

सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा में पैरामिलिट्री फोर्स की पांच कंपनियां तैनात की जाएंगी। इसके अलावा ऊंची इमारतों पर एनएसजी कमांडो, ड्रोन और स्नाइपर्स भी तैनात किए जाएंगे। शपथ ग्रहण समारोह में कई विदेशी मेहमान भी शामिल होंगे। ऐसे में पूरी राजधानी हाई अलर्ट पर रहेगी।

विदेशी मेहमानों की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी खुफिया एजेंसियों के कंधों पर होगी। हर राष्ट्राध्यक्ष के प्रोटोकॉल के मुताबिक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा जिन होटलों में विदेशी मेहमान रुकेंगे, उनकी सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। 

दिल्ली पुलिस के मुताबिक राष्ट्रपति भवन के आसपास संसद मार्ग, रफी मार्ग, रायसीना रोड, राजेंद्र प्रसाद रोड, मदर टेरेसा क्रिसेंट, सरदार पटेल मार्ग पर कार्यक्रम के दौरान सिर्फ उन्हीं वाहनों को प्रवेश की अनुमति होगी, जिनके पास पास होंगे। पुलिस के मुताबिक इस कार्यक्रम की निगरानी 500 से ज्यादा सीसीटीवी से की जाएगी। 

शपथ ग्रहण समारोह को देखते हुए दिल्ली पुलिस की ओर से 9 और 10 जून के लिए कई पाबंदियां भी लगाई गई हैं। दिल्ली को नो फ्लाइंग जोन घोषित कर दिया गया है। इस दौरान पूरी दिल्ली में पैराग्लाइडर, पैरा-मोटर्स, हैंग ग्लाइडर, यूएवी, यूएएस, माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट, रिमोट कंट्रोल्ड एयरक्राफ्ट जैसे सब-कन्वेंशनल एरियल प्लेटफॉर्म की उड़ान पर रोक लगा दी गई है।

राष्ट्रपति भवन में होने वाले समारोह के लिए आठ हजार मेहमानों के बैठने की व्यवस्था की गई है। बड़ी संख्या में सेंट्रल विस्टा परियोजना में काम करने वाले मजदूरों, सफाई कर्मिचारियों, केंद्र सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों, विकसित भारत के राजदूतों और ड्रोन दीदियों को आमंत्रित किया गया है। समारोह के लिए व्यापक सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। सभी मेहमान और समारोह स्थल तिहरे सुरक्षा घेरे में रहेंगे। राष्ट्रपति भवन के आसपास के इलाके में गुरुवार से सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow