हथकरघा और हस्तशिल्प उत्पादों को मिलेगी उचित मार्केट , शिमला और मंडी में बनेगा खादी प्लाजा

हिमाचल प्रदेश सरकार ने शिमला और मंडी जिले में ‘खादी प्लाजा’ स्थापित करने का निर्णय लिया है। इसमें खादी उत्पादों के अलावा हथकरघा, हस्तशिल्प से जुड़े अन्य उत्पाद भी उपलब्ध होंगे। इसको लेकर अधिकारियों को प्रस्ताव तैयार करने और विशेषज्ञ एजेंसियों से परामर्श लेने के निर्देश जारी कर दिए

Jul 25, 2023 - 19:54
Jul 25, 2023 - 19:57
 0  35
हथकरघा और हस्तशिल्प उत्पादों को मिलेगी उचित मार्केट , शिमला और मंडी में बनेगा खादी प्लाजा

यंगवार्ता न्यूज़ - शिमला  25-07-2023

हिमाचल प्रदेश सरकार ने शिमला और मंडी जिले में ‘खादी प्लाजा’ स्थापित करने का निर्णय लिया है। इसमें खादी उत्पादों के अलावा हथकरघा, हस्तशिल्प से जुड़े अन्य उत्पाद भी उपलब्ध होंगे। इसको लेकर अधिकारियों को प्रस्ताव तैयार करने और विशेषज्ञ एजेंसियों से परामर्श लेने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 
 
 
यह प्लाजा ग्रामीण कारीगरों और उद्यमियों को विपणन सुविधाएं प्रदान करने के अलावा आय सृजन का स्रोत बनेंगे। मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने कहा कि खादी बोर्ड ग्रामीण क्षेत्रों में भेड़ पालकों और बागवानों, विशेष रूप से जनजातीय क्षेत्रों में खादी केंद्रों के माध्यम से ऊन की कताई और खुमानी बीज तेल निकालने के लिए मशीनों की सुविधा प्रदान कर रहा है। 
 
 
इससे इस क्षेत्र से जुड़े हितधारकों को लाभ होगा। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में राज्य खादी बोर्ड ने प्रदेश की 383 इकाइयों को 14.34 करोड़ रुपये की सब्सिडी वितरित की है। राज्य में इन इकाइयों की परियोजना लागत 57.36 करोड़ है जिससे राज्य के 3,064 युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं। प्रदेश में ठंडी जलवायु के कारण लोगों को ज्यादातर समय ऊनी कपड़ों की जरूरत रहती है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow