मीडिया को गाली दे गए राहुल गांधी, इंदिरा गांधी ने की थी आपातकाल के हथियार से संविधान की हत्या : भारद्वाज

भारतीय जनता पार्टी पूर्व मंत्री सुरेश भारद्वाज ने शिमला में प्रैस को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पिछले कल नाहन और मंडी में रैलियां हुई जिसमें 1 लाख से अधिक लोगों  ने भाग लिया। प्रधानमंत्री मोदी की रैलियों में भारी उपस्थिति ने दिखाया कि उनकी लोकप्रियता कभी भी कम नहीं हो सकती

May 26, 2024 - 20:59
May 26, 2024 - 21:04
 0  47
मीडिया को गाली दे गए राहुल गांधी, इंदिरा गांधी ने की थी आपातकाल के हथियार से संविधान की हत्या :   भारद्वाज

यंगवार्ता न्यूज़ - शिमला    26-05-2024

भारतीय जनता पार्टी पूर्व मंत्री सुरेश भारद्वाज ने शिमला में प्रैस को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पिछले कल नाहन और मंडी में रैलियां हुई जिसमें 1 लाख से अधिक लोगों  ने भाग लिया। प्रधानमंत्री मोदी की रैलियों में भारी उपस्थिति ने दिखाया कि उनकी लोकप्रियता कभी भी कम नहीं हो सकती । 

आज राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी की नकल करते हुए नाहन को ही रैली के लिए चुना लेकिन चौगान मैदान से  बहुत छोटा मैदान चुना गया जिससे भीड़ ज्यादा दिखाई दें। इसके बावजूद, राहुल गांधी ने भाषण में किसी भी कांग्रेस सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख नहीं किया, जो कि उनके नेतृत्व की महत्ता को दर्शाता है। वे सिर्फ व्यक्तिगत हमलों और बयानों पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

सुरेश भारद्वाज ने कहा कि राहुल गांधी ने अपने सम्बोधन में लोकतंत्र चौथे स्तंभ मीडिया को भी भरे मंच से गाली दी और मीडिया को बिकाऊ तक बताया जो कि अति निंदनीय है। भूतपूर्व प्रधानमत्री इंदिरा गांधी ने देश के लोगों पर अपनी सरकार बचाने के लिए  जबरन आपातकाल थोपा था और लोकतंत्र व संविधान की गरिमा को ठेस पहुंचाई थी और आज उनका पोता संविधान और मीडिया को गाली देने का कार्य कर रहा है। 

इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस की गांधी परिवार की यह पुरानी आदत है। भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस के इस कृत्य की निंदा करती है। राहुल गांधी की रैली की प्रतिक्रियाएं स्पष्ट रूप से दिखाती हैं कि लोग कांग्रेस को कभी सत्ता में नहीं लाएंगे  और हिमाचल से भाजपा के सभी उम्मीदवारों को जीत दिलाएंगे ।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता बार-बार आयात शुल्क का राग अलाप रहे है, किंतु उन्हें यह ज्ञात नहीं है कि इसी आयात शुल्क का करार कांगड़ा लोकसभा उम्मीदवार व तत्त्कालीन कांग्रेस सरकार के मंत्री आंनद शर्मा ने हस्ताक्षर करके किया था। यह प्रश्न बागवान और प्रदेश की जनता और कांग्रेस के इंडी गठबंधन के नेताओं को कांग्रेस उम्मीदवार आंनद शर्मा से पूछने चाहिए। 

केंद्र सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों का ब्यौरा हमारी सरकार के नेता व पार्टी के कार्यकर्ता जनता के समक्ष बता कर विकास के नाम पर वोट मांग रहे और लोगों को केन्द्र सरकार के द्वारा हिमाचल में करवाए गए विकास कार्यों को देखकर प्रधानमंत्री मोदी पर विश्वास और गूढ़ हो गया है और लोग विकास और मोदी के नाम पर मतदान करने जा रहे हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow