सत्संग में काल बन कर आई मौत , भगदड़ में 116 से ज्यादा लोगों की गई जान 

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के सिकंदराराऊ कस्बे के फुलरई गांव में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां साकार हरि बाबा का सत्संग चल रहा था। सत्संग समाप्त होने के बाद यहां से जैसे भी भीड़ निकलना शुरू हुई तो भगदड़ मच गई। भगदड़ में अब तक 116 से अधिक लोगों की मौत की सुचनाहै। बताते है कि यहां रतिभानपुर में सत्संग के दौरान भगदड़ मच गई। इस भगदड़ में 87 से अधिक लोगों के मारे जाने की आशंका

Jul 2, 2024 - 19:40
Jul 2, 2024 - 22:51
 0  181
सत्संग में काल बन कर आई मौत , भगदड़ में 116  से ज्यादा लोगों की गई जान 
न्यूज़ एजेंसी - लखनऊ   02-07-2024

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के सिकंदराराऊ कस्बे के फुलरई गांव में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां साकार हरि बाबा का सत्संग चल रहा था। सत्संग समाप्त होने के बाद यहां से जैसे भी भीड़ निकलना शुरू हुई तो भगदड़ मच गई। भगदड़ में अब तक 116 से अधिक लोगों की मौत की सुचनाहै। बताते है कि यहां रतिभानपुर में सत्संग के दौरान भगदड़ मच गई। इस भगदड़ में 116 से अधिक लोगों के मारे जाने की आशंका है। वहीं दर्जनों लोग घायल हुए हैं। बताया जा रहा है कि मृतकों में ज्यादातर महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। बताया जा रहा है कि जिस समय यह हादसा पेश आया उस समय भोले बाबा का सत्संग चल रहा था। 
सत्संग समाप्ति के बाद हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ बाहर निकल रही थी कि इसी बीच भगदड़ मच गई। इस भगदड़ में 116 लोगों के मारे जाने की आशंका है। वहीं, घायलों को एटा अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंचकर राहत बचाव कार्य में जुट गई है। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस में हुए हादसे का संज्ञान लेते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचकर जिला प्रशासन के अधिकारियों को उनके समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को मौके पर पहुंचकर राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। 
पुलिस सूत्रों के अनुसार तहसील में मुगलगढ़ी नेशनल हाइवे पर फुलरई गांव में आज मानव मंगल मिलन सद्भावना समागम समिति नामक संस्था ने आज सत्संग कार्यक्रम का आयोजन किया था जिसमें बड़ी तादाद में श्रद्धालु एकत्रित हुए थे। कार्यक्रम के दौरान भगदड़ मचने से कई लोग हताहत हुए। उन्होंने बताया कि मृतकों की संख्या 116 से ज्यादा होने की आशंका है। कई हताहतों को हाथरस के अलावा एटा और अलीगढ़ जिले में शिफ्ट किया गया है। मरने वालों में महिलाओं की संख्या सर्वाधिक है। हाथरस, डीएम आशीष कुमार ने हादसे में 116 लोगों के मरने की पुष्टि की है। 
उनका कहना है कि अभी भी मृतकों की संख्या के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। वही एटा के एसएसपी राजेश कुमार सिंह के मुताबिक, जिस वक्त भगदड़ हुई उस समय हाथरस जिले के सिकंदराराऊ कस्बे में धार्मिक आयोजन चल रहा था। एटा अस्पताल में अब तक 27 शव आ चुके हैं, जिनमें 23 महिलाएं, तीन बच्चे और एक पुरुष शामिल हैं। अभी घायल अस्पताल नहीं पहुंचे हैं। आगे की जांच की जा रही है। इन 27 शवों की पहचान की जा रही है। उधर हाथरस के पुलिस अधीक्षक निपुण अग्रवाल ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि हादसे में क़रीब 116 लोगों की मौत हुई है और 18 घायल हैं। 

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow