प्रदेश के गेहूं खरीद केंद्रों में चार अप्रैल से शुरू होगी किसानों से गेहूं की खरीद  

प्रदेश में किसानों से गेहूं की फसल खरीदने के लिए विभाग की ओर से तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्रदेश के गेहूं खरीद केंद्रों में चार अप्रैल से किसानों से गेहूं की खरीद शुरू हो जाएगी। किसानों ने गेहूं की फसल बेचने के लिए विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण करवाना शुरू

Apr 2, 2024 - 13:58
 0  13
प्रदेश के गेहूं खरीद केंद्रों में चार अप्रैल से शुरू होगी किसानों से गेहूं की खरीद  

यंगवार्ता न्यूज़ - शिमला    02-04-2024

प्रदेश में किसानों से गेहूं की फसल खरीदने के लिए विभाग की ओर से तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्रदेश के गेहूं खरीद केंद्रों में चार अप्रैल से किसानों से गेहूं की खरीद शुरू हो जाएगी। किसानों ने गेहूं की फसल बेचने के लिए विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण करवाना शुरू कर दिया है। अभी तक 31 किसानों ने गेहूं की फसल बेचने के लिए विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण करवाया है। 

राज्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा किसानों से गेहूं की फसल की खरीद की जाएगी। विभाग द्वारा दस हजार मीट्रिक टन गेहूं  की फसल खरीदने का लक्ष्य तय किया है। प्रदेश में किसानों से गेहूं की फसल की खरीद करने के लिए दस गेहूं खरीद केंद्र बनाए गए हैं। चार अप्रैल से केंद्रों में गेहूं की खरीद शुरू हो जाएगी। गेहूं की खरीद प्रदेश में दस मंडियां बनाई गई हैं। 

जिसमें अनाज मंडी फतेहपूर, मीलवां, इंदौरा, रियाली, नगरोटा बगवां/टांडा कोहली जिला कांगड़ा, धौलाकुआं, पावंटा साहिब जिला सिरमौर, मार्केट यार्ड नालागढ़, मलपुर बद्दी जिला सोलन तथा मार्केट यार्ड टकारला, रामपुर जिला ऊना शामिल है। 

इस मंडियों के माध्यम से किसानों से गेहूं फसल की जाएगी। प्रदेश में किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य 2275 रुपए प्रति क्विंंटल तय किया है। किसान विभाग के पोर्टल पर जाकर अपनी फसल का ब्यौरा भरने के बाद किसानों का गेहंू की फसल बेचेने के लिए पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण के लिए 15 मार्च से पोर्टल खोल दिया है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow