हिमाचल प्रदेश का प्रथम जनजातीय साहित्य सह भ्रमण उत्सव छुक्षिम सफलता पूर्वक संपन्न  

जनजातीय साहित्य उत्सव के तीसरे दिवस पर सचिव भाषा कला एवम संस्कृति विभाग राकेश कंवर ने जनजातीय साहित्य उत्सव के आयोजन पर बधाई दी और कहा की इन आयोजनों से जनजातीय क्षेत्रों की समृद्ध संस्कृति को बढ़ावा मिलता

Oct 25, 2023 - 13:28
 0  5
हिमाचल प्रदेश का प्रथम जनजातीय साहित्य सह भ्रमण उत्सव छुक्षिम सफलता पूर्वक संपन्न  

यंगवार्ता न्यूज़ - किन्नौर     25-10-2023

जनजातीय साहित्य उत्सव के तीसरे दिवस पर सचिव भाषा कला एवम संस्कृति विभाग राकेश कंवर ने जनजातीय साहित्य उत्सव के आयोजन पर बधाई दी और कहा की इन आयोजनों से जनजातीय क्षेत्रों की समृद्ध संस्कृति को बढ़ावा मिलता है और साहित्य का वातावरण स्थापित होता है। उन्होंने साहित्यिक वातावरण स्थापित करने की विशेषता पर बल दिया और पढ़ने की आदत को विकसित करने को कहा। 

उन्होंने कहा की आगामी समय में इसी प्रकार का कार्यकर्म शिमला में भी करवाने का प्रयास किया जाएगा, जिसमे जनजातीय क्षेत्रों के साहित्यकारों को मंच प्रदान किया जाएगा। कार्यकर्म में साहित्यकारों की चर्चा भी आयोजित की गई जिसमे दीपक सानन, शरभ नेगी और यशिका सिंगला ने भाग लिया और जनजातीय साहित्य, जनजातीय संस्कृति के संरक्षण, जलवायु परिवर्तन का संस्कृति पर प्रभाव, इत्यादि पर चर्चा की।

हिमाचल की प्रसिद्ध लेखिका मीनाक्षी कंवर ने अपनी साहित्यिक सफर सांझा करते हुए कहा की उनके द्वारा 26 पुस्तके लिखी गई है। उन्होंने कहा की उपस्थित विद्यार्थियों और अतिथियों को अपने विचारों का लेखन कर लिखने की शुरुआत करने की प्रेरणा दी। मनोविज्ञानिक मेधावी शर्मा ने भी पड़ने की क्षमता को सुधारने पर ज्ञान सांझा किया और कहा की पढ़ने की क्षमता को बदलने के लिए स्क्रीन टाइम काम करने की आवश्यकता है।

उपायुक्त किन्नौर तोरुल रवीश ने सभी गणमान्य व्यक्तियों का साहित्य महोत्सव में पधारने के लिए धन्यावाद किया तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अधिकारी, स्थानीय विद्यालयों व राजकीय महाविद्यालय के छात्र एवम छात्राएं तथा अन्य बुद्धिजीवी उपास्थित थे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow